BHIM UPI क्या है, BHIM full form व पूरी जानकारी

BHIM क्या है, BHIM Full Form in Hindi

BHIM  Full Form in Hindi, BHIM का फुल फाॅम क्या है, BHIM क्या है, BHIM UPI, BHIM UPI Full Form, BHIM app.

नमस्कार पाठकों, आज हम BHIM ऐप के बारे में विस्तार से जानेंगे की BHIM app क्या है, यह क्या काम आता है और इसे कैसे काम में लेते है, इसके अलावा लोग इसका BHIM का full form भी सर्च करते हैं तो आज हम आपको इसका full form BHIM full form in Hindi भी बताएंगे।

ऐप से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी

इससे पैसों के लेनदेन के आलावा और क्या क्या कर सकते है आज के लेख में हम यह सब कुछ जानेंगे। इस आधुनिक युग में यहाँ हर कार्य अपनी शीघ्रता की तेज़ी में है।

सारे लोगों को अपना काम जल्दी पूरा करना चाहते है कुछ भी चाहने, करने और होने में भी शीघ्रता की आशा है, वही एक और Payment एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे लोगों को यदि भरोसा ना हो तो लोग अपना काम जल्दी करने का विकल्प छोड़ने में समय नहीं लगते।

लोग Payment करने के केवल एक तरीके में ही सबसे ज्यादा भरोसा करते थे और वह था नकद तरीका।

नकद तरीका अपने आप में एक भरोसेमंद तरीका था जिसमे एक व्यक्ति एक साथ से कुछ सामान लेता था और दुसरे हाथ से पैसा नकद में देता था, लेकिन नकद Payment करने में भी बहुत प्रकार की दिक्कतों का सामना भी करना पड़ता था

लेकिन जैसा की ऊपर उल्लेखित किया गया है, आधुनिक विश्व ने Payment के इस नियम की काया पलट दी।

Online transaction एक ऐसी प्रक्रिया जो विश्वभर से अपनाई गयी जिसमे पैसों का आदान प्रदान इन्टरनेट और online transaction की तकनीक से होने लगा।

इस तकनीक के जरिये पैसों के आदान प्रदान करने की प्रक्रिया में एक क्रांति ही आ गयी।

भारत ने भी इस तकनीक को अपनाया और भारत सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत के digital भारत अभियान के तहत भारत को online transactions की दुनिया में एक अलग पहचान बनाने के लिए BHIM APP को Launch किया गया।

BHIM क्या है

BHIM Bharat Interface For Money (BHIM) एक Payment app है जो आपको unified payment interface (UPI) का उपयोग करके सरल, आसान और जल्दी लेनदेन करने की सुविधा देता है।

आप UPI पर किसी को भी उनकी UPI ID का उपयोग करके या BHIM app से उनके QR को स्कैन करके सीधे बैंक Payment कर सकते हैं।

आप UPI ID से app के जरिए भी पैसे की request कर सकते हैं।

National Payment Corporation of India (NPCI) द्वारा विकसित BHIM की कल्पना और launch भारत के माननीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 30 दिसंबर 2016 को राष्ट्र और डिजिटल रूप से सशक्त समाज में वित्तीय समावेशन लाने के लिए किया था।

यह भी पढ़े: Internet क्या है

BHIM का full form क्या है (BHIM Full Form in Hindi)

दोस्तों आप सब ने कभी न कभी जरूर online transaction किया होगा और आपके कानो में जरूर BHIM UPI या BHIM app के नाम जरूर पड़े होंगे। आज हम आपको बताएँगे कि BHIM का पूरा नाम क्या होता है…

BH = Bharat (भारत)

I = Interface (परत/फलक/अंतराफलक)

M = Money (धन)

अर्थात BHIM एक ऐसा भारत निर्मित app है जिसमे आप एक फलक या स्क्रीन के जरिये अपने धन/पूंजी पर नजर रख सकते है।

भारतीय राष्ट्रीय पेमेंट निगम (NPCI)

NPCI भारत में Retail Payments और Settlement System के संचालन के लिए एक-छत्र संगठन है।

यह Payments और Settlement System 2007 के प्रावधानों के तहत भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) और भारतीय बैंक संघ (IBA) की एक पहल है जो भारत में एक मजबूत Payment और निपटान प्रणाली का उद्देश्य पूरा करती है।

NCPI के उद्देश्यों की उपयोगिता प्रकृति को ध्यान में रखते हुए, इसे कंपनी अधिनियम 1956 (अब कंपनी अधिनियम 2013 की धारा 8) की धारा 25 के प्रावधानों के तहत “Not for Profit Company” के रूप में शामिल किया गया है,

जिसका उद्देश्य संपूर्ण बैंकिंग प्रणाली या Banking System को भौतिक के साथ-साथ Electronic Payment और निपटान प्रणाली के लिए भारत में बुनियादी ढांचा प्रदान करना है।

कंपनी संचालन में अधिक दक्षता प्राप्त करने और Payment प्रणालियों की पहुंच को व्यापक बनाने के लिए technology के उपयोग के माध्यम से retail Payment प्रणालियों में पारदर्शिता लाने पर केंद्रित है।

प्रमोटर बैंक

NPCI के दस प्रमुख प्रमोटर बैंक भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक (PNB), केनरा बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया, ICICI Bank, HDFC Bank, सिटी बैंक एनए और HBSE हैं।

2016 में सभी क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करने वाले अधिक बैंकों को शामिल करने के लिए 56 सदस्य बैंकों के लिए शेयरधारिता स्थापित थी।

पिछले सात साल की यात्रा

NPCI ने पिछले छह वर्षों की अपनी यात्रा के दौरान देश में retail payment प्रणाली पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाला है।

हमारे माननीय राष्ट्रपति, श्री प्रणब मुखर्जी द्वारा राष्ट्र को समर्पित, माननीय प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी द्वारा समर्थित और बाद में महत्वाकांक्षी प्रधान मंत्री जन धन योजना के लिए पसंद का कार्ड बनाया गया, रुपे अब एक जाना-पहचाना नाम है।

तत्काल Payment सेवा (IMPS) के साथ, भारत खुदरा क्षेत्र में Real Time Payment में दुनिया का अग्रणी देश बन गया है।

National Finance Switch (NFS) और Check ट्रंकेशन Syetem (CTS) NPCI के प्रमुख उत्पाद बने हुए हैं।

Unified Payment Interface (UPI) और भारत Interface For Money (BHIM) को Payment प्रणाली में क्रांतिकारी उत्पाद कहा गया है।

भारत Bill Payment प्रणाली (BBPS) को भी Pilot Mode में शुरू किया गया है।

BHIM का इस्तेमाल कैसे करे?

भारत Interface For Money (BHIM) एक Payment ऐप है जो आपको Unified Payments Interface (UPI) का उपयोग करके सरल, आसान और त्वरित लेनदेन करने देता है।

आप UPI पर किसी को भी उनकी UPI ID का उपयोग करके या BHIM ऐप से उनके QR को स्कैन करके सीधे बैंक Payment कर सकते हैं। आप UPI ID से ऐप के जरिए भी पैसे का अनुरोध कर सकते हैं।

निम्नलिखित चरणों में आप BHIM को काम में ले सकते है-

• गूगल प्ले स्टोर या एप्पल ऐप स्टोर से BHIM ऐप डाउनलोड और इंस्टॉल करें

• अपनी पसंदीदा भाषा चुनें

• सिम का चयन करें जिसमें मोबाइल नंबर है जो आपके बैंक में पंजीकृत है

• 4 अंकों का एप्लिकेशन पासवर्ड सेट करके लॉगिन करें

• अपना वांछित बैंक खाता चुनें और लिंक करें

• डेबिट कार्ड के अंतिम 6 अंक और समाप्ति तिथि प्रदान करके अपना यूपीआई पिन सेट करें

• आपका खाता अब पंजीकृत है और उपयोग के लिए तैयार है। पैसे भेजें या अनुरोध करें और कैशलेस हो जाएं!

BHIM एक अनूठा Payment समाधान है जिसका उपयोग बिना इंटरनेट के भी किया जा सकता है !! आप किसी भी फोन से *99# डायल कर सकते हैं और अपने मोबाइल स्क्रीन पर BHIM की समान सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं।

आप *99# का उपयोग करके BHIM के लिए पंजीकरण कर सकते हैं।

पैसे भेजे

यह सुविधा उपयोगकर्ता को Virtual Payment Address (VPA) या खाता संख्या और IFSC के संयोजन का उपयोग करके या

यहां तक कि QR कोड को स्कैन करके भी पैसे भेजने में सक्षम बनाती है।

पैसे मांगे / Request करे

यह सुविधा उपयोगकर्ता को वर्चुअल पेमेंट एड्रेस (VPA) दर्ज करके एक संग्रह अनुरोध शुरू करने में सक्षम बनाती है।

इसके अतिरिक्त, BHIM ऐप के माध्यम से, कोई भी व्यक्ति मोबाइल का उपयोग करके पैसे ट्रांसफर कर सकता है यदि वह BHIM या *99# के साथ पंजीकृत है।

साथ ही, यह अनिवार्य है कि ग्राहकों का मोबाइल नंबर बैंक खाते से जुड़ा हो।

Scan करें और Payment करें

ग्राहक ‘scan and pay’ के माध्यम से QR कोड को scan करके Payment कर सकते हैं और Payment करने के लिए ऐप में QR कोड generate कर सकते हैं।

लेनदेन

यह विकल्प उपयोगकर्ता को लेनदेन इतिहास की जांच करने की अनुमति देता है।

यह लंबित UPI संग्रह अनुरोधों (यदि कोई हो) को भी highlight करता है ताकि उपयोगकर्ता Payment अनुरोधों को स्वीकार या अस्वीकार कर सके।

यदि कोई ग्राहक लेन-देन से संबंधित कोई शिकायत करनी हो तो उसे केवल report tab पर click करना है।

प्रोफ़ाइल

प्रोफ़ाइल option उपयोगकर्ता को स्थिर QR कोड और बनाए गए Payment पते देखने में मदद करता है।

QR कोड download करने योग्य है और इसे विभिन्न messenger application जैसे व्हाट्सएप, ईमेल आदि के माध्यम से साझा किया जा सकता है।

बैंक खाता

इस विकल्प का उपयोग करके, ग्राहक पिन स्थिति के साथ BHIM ऐप से जुड़े बैंक खाते की जांच कर सकता है।

ग्राहक menu में दिए गए ‘खाता बदलें’ tab पर क्लिक करके BHIM ऐप से जुड़े यूपीआई पिन, बैंक खाते को सेट/बदल सकते हैं।

यह सुविधा उपयोगकर्ता को अपने खाते की शेष राशि की जांच करने में भी मदद करती है।

BHIM के जरिये IPO में invest कैसे करे

यह जानने में चमत्कारिक लगेगा की एक व्यक्ति जो BHIM एप का इस्तेमाल करता है वह आसानी से एक IPO में भी इन्वेस्ट कर सकता है

IPO क्या होता है

बहुत बार बड़ी companies जो stock market में registered नहीं होती है, वे fund जुटाने के लिए समय समय पर अपने IPO निकलती है

IPO की full form Initial Public Offer होता है जिसमे कंपनिया लोगो को मौका देती है की वे उन कंपनियों के शेयर्स या हिस्सेदारी को अपने लिए खरीद सकते है,

और जब शेयर के दाम बढ़ जाये तो उन्हें वापस कंपनी को बेचकर वे मुनाफा कमा सकते है।

निम्नलिखित तरीकों से एक इंसान BHIM के जरिये एक आईपीओ में इन्वेस्ट कर सकता है

• एक व्यक्ति जिसके पास ट्रेडिंग अकाउंट है वह अपने ब्रोकर को संपर्क करे।

• सब्सक्राइबर को अपना payment सिस्टम BHIM UPI ID सेलेक्ट करना होगा।

• सब्सक्राइबर के पास BHIM एप पर मेंडेट रिक्वेस्ट आयेगी।

• बाद में सब्सक्राइबर को उस रिक्वेस्ट पर क्लिक करके अपना UPI पिन डालना होगा।

• और तुरंत आपके पैसे आईपीओ के लिए ब्रोकर के पास जमा हो जायेंगे।

• अब इसके परिणाम तीन प्रकार के हो सकते है।

• या तो आईपीओ के लिए तुरंत सारे पैसे आपके कंपनी के पास ब्रोकर के जरिये जमा हो जायेंगे और आपको आईपीओ allot हो जायेगा।

• या फिर कुछ पैसे बचेंगे जिसे आप अपने ब्रोकर से संपर्क करके वापस मांग सकते है।

• या फिर आप का आईपीओ आपको allot नहीं होगा और आपके पैसे कंपनी के पास जमा नहीं होंगे और आप उन पैसों को अपने ब्रोकर के जरिये अपने खाते में वापस डलवा सकते है।

इन सब तरकीबों से आप आराम से BHIM UPI और एप का इस्तेमाल करते हुए आराम से अपने भुगतान को आसन व तेज़ बना सकते है।

आज हमने क्या सीखा

आज detail में हमने BHIM क्या होता है, BHIM full form क्या है इसके बारे में जानकारी प्राप्त की है

और समझा की कैसे BHIM को इस्तेमाल करके हम बहुत सारे काम जिन्हें करने में दिनों और हफ़्तों का समय लगता था उसे  कुछ मिनटों या चंद Seconds में कर सकते है।

हम उम्मीद करते हैं आपको हमारा ये लेख पसंद आया होगा यदि पसंद आया तो कृपया इसे अपने मित्रों व सगे सम्बन्धियों तक जरूर शेयर करे।
धन्यवाद

अन्य फुल फाॅम: WiFi Full Form in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *